Hamar Dhamtari

शिक्षक बनना उतना आसान नहीं, जितना समझा जाता है: सुमित्रा महाजन

शिक्षक सम्मान समारोह: लोकसभा अध्यक्ष और मुख्यमंत्री ने किया सेवानिवृत्त शिक्षकों का सम्मान

No image
रायपुर. लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा है कि बच्चों में शिक्षा और संस्कार के बीज बोना वास्तव में काफी चुनौती पूर्ण कार्य है। इसलिए शिक्षक अथवा अध्यापक बनना उतना आसान नहीं है, जितना की आम तौर पर समझा लिया जाता है। शिक्षक अपने ज्ञान और कौशल से बच्चों पर ऐसा गहरा प्रभाव डालते हैं कि उनकी कही गई बातों पर विद्यार्थी आसानी से विश्वास कर लेते हैं। शिक्षकों के सामने नयी पीढ़ी को शिक्षित और संस्कारित करने की बड़ी जिम्मेदारी होती है। श्रीमती महाजन छत्तीसगढ़ के जिला मुख्यालय बेमेतरा में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अध्यक्षता में आयोजित जिला स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह को सम्बोधित कर रही थीं।

समारोह में उन्होंने और मुख्यमंत्री ने जिले के 26 सेवानिवृत्त शिक्षकों सहित बीस प्रतिभावान विद्यार्थियों दो प्रतिभावान दिव्यांग बच्चों और राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार प्राप्त एक छात्र को सम्मानित किया। श्रीमती महाजन और डॉ. सिंह ने सेवानिवृत्त शिक्षकों को शॉल, श्रीफल और प्रशस्ति पत्र भेंट कर उनके स्वस्थ, सुदीर्घ और खुशहाल जीवन की कामना की। विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल, स्कूल शिक्षा और आदिम जाति विकास मंत्री केदार कश्यप, सहकारिता, पर्यटन और संस्कृति मंत्री दयालदास बघेल, विधायक अवधेश चंदेल और अन्य अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि तथा बड़ी संख्या में शिक्षक, छात्र और प्रबुद्ध नागरिक उपस्थित थे। मुख्य अतिथि की आसंदी से समारोह को सम्बोधित करते हुए लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती महाजन ने राज्य, देश और समाज के निर्माण में शिक्षकों की भूमिका को अत्यंत महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने बेमेतरा में स्थानीय नागरिक समाज की भागीदारी से विगत 32 वर्षों से हर साल आयोजित हो रहे शिक्षक सम्मान समारोह की प्रशंसा की और इसके लिए आयोजकों को भी बधाई दी। 

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा- बेमेतरा में शिक्षकों के सम्मान के लिए होने वाला यह वार्षिक आयोजन वास्तव में काफी अनूठा है। बेमेतरा के लोगों में शिक्षा के प्रति लगाव और शिक्षकों को सम्मान देने के सराहनीय संस्कार हैं। मुख्यमंत्री ने कहा शिक्षा गुणवत्ता के मामले में भी बेमेतरा की अलग और विशेष पहचान है। यहां कई ऐसे शैक्षणिक संस्थान संचालित हो रहे है, जिनमें पढ़ने के लिए राज्य के बाहर के बच्चे भी आते हैं। डॉ. रमन सिंह ने कहा - स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने पर राज्य सरकार विशेष रूप से ध्यान दे रही है। उन्होंने कहा - पूर्व राष्ट्रपति स्वर्गीय डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम के नाम पर प्राथमिक और मिडिल स्कूलों में शिक्षा गुणवत्ता अभियान चलाया जा रहा है।  - पूरे प्रदेश में 50 हजार से ज्यादा स्कूलों में लगभग 54 लाख बच्चों के लिए दो लाख 44 हजार शिक्षक नियुक्त है। डॉ. सिंह ने कहा - वर्ष 2000 में छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के बाद बेमेतरा क्षेत्र में भी उल्लेखनीय विकास हुआ है। लगभग पांच साल पहले वर्ष 2012 में बेमेतरा जिले का निर्माण हुआ। जिला बनने के बाद यहां विकास कार्यों में और भी तेजी आयी है।
hamar-dhamtari-whatsapp-logoShare

Comments on News

इन्हें भी देखे

dhamtari news प्रदेश में बीते 24 घंटों में मिले कोरोना के 2061 नए मरीज, राजधानी में भी 248 पाजिटिव
dhamtari news राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम ने केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद को लिखा पत्र
dhamtari news प्रदेश में मिले कोरोना के 1748 नए मरीज, राजधानी में भी 323 पाजिटिव
dhamtari news राज्य के विमानतलों में यात्रियों की अब कोविड स्क्रीनिंग
dhamtari news प्रदेश के जेलों में नियुक्ति हुए 88 अशासकीय जेल संदर्शक, अधिसूचना जारी
dhamtari news छत्तीसगढ़ में बीते 24 घंटों में मिले कोरोना के 2284 नए मरीज, राजधानी में भी 273 पाजिटिव
dhamtari news भूपेश बघेल की हठधर्मिता के चलते किसान दोहरी मार झेलने मजबूर-भाजपा
dhamtari news भूपेश कैबिनेट की बैठक 28 नवंबर को
dhamtari news विश्व मछुवारा दिवस पर मुख्यमंत्री निवास में आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए कहार भोई समाज के प्रतिनिधिमंडल
dhamtari news ओमप्रकाश वर्मा और उनकी पत्नी अनिता वर्मा ने की देहदान की घोषणा

Follow Us

विडियो

Email : hamardhamtari@gmail.com