Hamar Dhamtari

आस्ट्रेलियाई टीम करेगी जिले में मातृ-शिशु मृत्युदर को कम

पायलेट प्रोजेक्ट के तहत स्वास्थ्य विभाग के मास्टर ट्रेनरों को किया जा रहा प्रशिक्षित

No image धमतरी. जिले में मातृ-शिशु मृत्यु दर को कम करने के लिए पायलेट प्रोजेक्ट के तहत जिले के स्वास्थ्य विभाग के मास्टर ट्रेनरों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। इस काम में लगे आस्ट्रेलियाई टीम के प्रतिनिधियों की ओर से प्रशिक्षण दिया जा रहा है। शुक्रवार को सुबह 11 बजे कलेक्टर डॉ. सी.आर. प्रसन्ना से पर्थ, आस्ट्रेलिया के डॉ. बैरी मेण्डेलाविज और क्लिनिकल मिडवाइफ कन्सल्टैंट बेलिंडा जेनिंग्स ने मुलाकात कर उनके ओर से अब तक किए गए कार्यों और प्रशिक्षण कार्यक्रमों के बारे में जानकारी दी।

इस दौरान कलेक्टर ने बताया कि पायलेट प्रोजेक्ट के अगले चरण में महिला एवं बाल विकास विभाग को भी जोड़ा जाएगा। बैठक में मुख्य चिकित्सा और स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. डी.के. तुर्रे ने बताया कि भारत में मातृ-शिशु मृत्युदर प्रतिलाख पर 232 है, जबकि प्रदेश में यह संख्या 244 और जिले में 112 है। जिले की यह दर देश और प्रदेश की दर से भी अच्छी स्थिति में है, इसलिए पायलेट प्रोजेक्ट की शुक्रवार धमतरी जिले में की गई है। आस्ट्रेलिया में यह दर सिर्फ 10 प्रति लाख है। इस दौरान रायपुर से आए रोटेरियन शशि वरवंडकर, स्थानीय रोटेरियन मोहन अग्रवाल, राजेन्द्र माहेश्वरी, एमएम खण्डेलवाल सहित स्वास्थ्य विभाग के मास्टर ट्रेनर्स भी उपस्थित थे। 
hamar-dhamtari-whatsapp-logoShare

Comments on News

Follow Us

विडियो

Email : hamardhamtari@gmail.com