Hamar Dhamtari

“पृथ्वी में पहले माँ और ब्रम्हाण्ड में ॐ शब्द की होती है कल्पना”.. प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान की शुरूआत

डीएलसीई “कल्याणी” सॉफ्टवेयर और “मां” कार्यक्रम की हुई शुरूआत स्वास्थ्य मंत्री ने डॉक्टरों और समाज सेवी संगठनों को किया सम्मानित

No image स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अजय चन्द्राकर रविवार की शाम एक निजी होटल में आयोजित कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान में बेहतर सेवाएं देने वाले चिकित्सकों और संगठनों को सम्मानित किया। चन्द्राकर ने इस मौके पर ‘डीएलसी ई-कल्याणी सॉफ्टवेयर’ और ‘माँ’ (एमएए) कार्यक्रम का भी शुभारंभ किया। इस दौरान श्री चन्द्राकर ने योजना के तहत शासकीय और निजी क्षेत्रों के चिकित्सकों और संगठनों को उनके सामाजिक दायित्वों में सहभागिता के लिए बधाई और शुभकामनाएं दी। साथ ही उन्होंने कहा कि यदि हम मातृत्व की बात करे तो महिलाओं की पूर्णता ही मातृत्व मानी जाती है। इसी प्रकार माँ की कल्पना करें तो पृथ्वी में पहले माँ शब्द और ब्रम्हाण्ड में ओम शब्द की कल्पना की जाती है। श्री चन्द्राकर ने प्रसव को लेकर सामाजिक भ्रांतिंया दूर करने के लिए निजी क्षेत्र की भागीदारी पर भी बल दिया। उन्होंने कहा कि स्वास्थ के क्षेत्र होे अथवा स्वच्छता की वही देश आगे आया है जिसके साथ समाज खड़ा हुआ है।

श्री चन्द्राकर ने मातृ मृत्युदर, शिशु मृत्युदर कम करने और संस्थागत प्रसव सूचकांक बढ़ाने पर विशेष जोर दिया। स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव सुब्रत साहू ने कहा कि छत्तीसगढ़ में विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के चलते स्वास्थ्य सूचकांक में काफी प्रभावकारी प्रगति हुआ है। मातृ मृत्युदर, शिशु मृत्युदर को कम करने की दिशा में और प्रयास करने की आवश्यकता है। उन्होंने बताया कि पिछले वर्षों की तुलना में संस्थागत प्रसव 14 प्रतिशत से बढ़कर 91 प्रतिशत हो गया है। इसे शतप्रतिशत करने की दिशा में और बेहतर काम करना होगा। स्वास्थ्य आयुक्त श्री आर. प्रसन्ना ने योजना के उद्देश्यों के संबंध विस्तार से जानकारी दी।

इन्हें मिला सम्मान..
कार्यक्रम में अधिकतम गर्भवती महिलाओं की जांच के लिए डॉ. प्रिया अग्रवाल, जिला रायगढ़ को सम्मानित किया गया। प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान अंतर्गत निजी चिकित्सकों द्वारा अधिकतम गर्भवती महिलाओं की जांच के लिए डॉ. (सिस्टर) एन्सी नेन्सी, जिला बस्तर  को पुरस्कृत किया गया। उच्च प्राथमिकता वाले जिलों में निजी चिकित्सकों द्वारा अधिकतम गर्भवती महिलाओं की जांच के लिए डॉ. गौरी देशकर, जिला बिलासपुर को सम्मानित किया गया। अभियान अंतर्गत उच्च प्राथमिकता वाले जिलों में निजी चिकित्सकों द्वारा अधिकतम गर्भवती महिलाओं की जांच के लिए डॉ. अंजू गोयल, डॉ. पूजा उपाध्याय को इस उत्कृष्ट एवं प्रशंसनीय कार्य हेतु उनका विशिष्ट सम्मान किया गया। साथ ही डॉ. रेखा रत्नानी, डॉ. रोजमेरी थामस, डॉ. शैलेन्द्र रूपरेला, डॉ. रिया माखिजा, को सम्मानित किया गया। प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान अंतर्गत अनुकरणीय सेवा प्रदान करने हेतु फेडरेशन ऑफ ऑब्स्ट्रेटिक एंड गायनिकोलॉजिकल सोसायटी ऑफ इंडिया, जिला रायपुर को सम्मानित किया गया। अनुकरणीय सेवा प्रदान करने पर फेडरेशन ऑफ ऑब्स्ट्रेटिक एंड गायनिकोलॉजिकल सोसायटी ऑफ इंडिया, जिला बिलासपुर, जिला दुर्ग,  इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, जिला दुर्ग, जिला बिलासपुर और जिला रायपुर को सम्मानित किया गया।
hamar-dhamtari-whatsapp-logoShare

Comments on News

Comments

Prakash-
27-08-2017 23:28:50
My first comment
vaibhav-
18-09-2017 23:00:10
testing for comment

इन्हें भी देखे

dhamtari news प्रदेश में 16 सितम्बर को 2 लाख 14 हजार से अधिक लोगों का कोरोना टीकाकरण
dhamtari news छत्तीसगढ़ में अब तक 1030.2 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज
dhamtari news मिनीमाता हसदेव बांगो बांध के खोले गए तीन गेट
dhamtari news राजीव गांधी किसान न्याय योजना में उद्यानिकी किसानों को भी मिलेगा लाभ, फल-फूल, सब्जी और मसाले की खेती में सब्सिडी
dhamtari news राज्य में 12 लाख 24 हजार 188 मीट्रिक टन रासायनिक उर्वरक का वितरण
dhamtari news छत्तीसगढ़ में आज कोरोना के 31 नए मरीजों की पहचान, 29 संक्रमित हुए ठीक
dhamtari news खरीफ फसलों की बोनी के लिए 9 लाख 9 हजार क्विंटल बीज वितरित
dhamtari news 46 लाख 64 हजार 290 हेक्टेयर में हो चुकी खरीफ फसलों की बुआई, खरीफ की 97 फीसद बोनी पूरी
dhamtari news छत्तीसगढ़ के ऑनलाईन पेंशन मैनेजमेंट सिस्टम को मिला राष्ट्रीय एलेट्स इनोवेशन अवार्ड
dhamtari news राजीव गांधी किसान न्याय योजना का लाभ लेने के लिए किसान अब 31 अक्टूबर तक करा सकेंगे खरीफ फसलों का पंजीयन

Follow Us

विडियो

Email : hamardhamtari@gmail.com