मानसिक दृढ़ता और संकल्प का भी परीक्षण करती है बॉडी बिल्डिंग : शिक्षा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल

शिक्षा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने बॉडी बिल्डिंग और पॉवर लिफ्टिंग चैंपियनशिप के विजेताओं को मेडल प्रदान किए

रायपुर। बॉडी बिल्डिंग और पॉवर लिफ्टिंग चैंपियनशिप चुनौतीपूर्ण प्रतियोगिता है, जो प्रतिभागियों से कड़ी मेहनत और समर्पण की मांग करती है। ये प्रतियोगिताएं न केवल शारीरिक प्रदर्शन का परीक्षण करती है, बल्कि मानसिक दृढ़ता और संकल्प का भी परीक्षण करती हैं यह बात शिक्षा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने राजधानी रायपुर के बूढ़ेश्वर मंदिर परिसर में आयोजित मिस्टर रायपुर 2024 एंड छत्तीसगढ़ स्टेट बॉडी बिल्डिंग एंड वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप के दौरान कही।

शिक्षा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल कार्यक्रम में मुख्य अतिथि थे। उन्होंने विजेता बॉडी बिल्डर को मेडल और कैश प्राइज देकर सम्मानित किया। अपने संबोधन में बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि, हमारी सरकार खेल और खिलाड़ियों को हमेशा से ही प्रोत्साहित करती रही है। आने वाले समय में राज्य में खेल पुरस्कार और उत्कृष्ट खिलाड़ियों को नौकरी देने के प्रयास किए जाएंगे। श्री बृजमोहन अग्रवाल ऑल इण्डिया बॉडी बिल्डिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

इस चैंपियनशिप में राबिन सिंह को मिस्टर रायपुर, कामेश्वरी को मिस रायपुर और दिव्यांग वर्ग में ए. शिवा राव को खिताब मिला। रायगढ़ की आभा कुजूर ने तीन खिताब अपने नाम किए। प्रतियोगिता के मुख्य निर्णायक भिलाई के अरविंद सिंह अंतर्राष्ट्रीय जज बॉडी बिल्डिंग महेंद्र टेका, प्रोटीन विला के दुर्गेश साहू, हेमंत परमाले, निर्मल भारती, शशि साहू, सागर दास, धर्मेंद्र दास रहे। कार्यक्रम का संचालन पावर लिफ्टिंग एसोसिएशन छग के महासचिव ऊदल वाल्मीकि ने किया। चैंपियनशिप का आयोजन रायपुर जिला बॉडी बिल्डिंग एसोसिएशन के सचिव मानिक ताम्रकार ने किया।

Leave a Comment

Notifications