एसीबी को झटका, पांच महत्वपूर्ण सुबूत चुराकर ले गए विधायक के भाई और रिश्तेदार

ख़बर सुनें

आप विधायक अमानतुल्लाह खान के भाई व रिश्तेदारों ने दिल्ली सरकार की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा (एसीबी) को बड़ा झटका दिया है। विधायक का भाई व रिश्तेदार घर से पांच महत्वपूर्ण सुबूत चुराकर ले गए। ये अमानतुल्लाह के खिलाफ बहुत ही महत्वपूर्ण व पुख्ता सुबूत थे। एसीबी प्रमुख मधुर वर्मा ने सुबूतों को चुराकर ले जाने की पुष्टि करते हुए बताया कि इन सुबूतों में कैश, प्रॉपर्टी के कागजात व हथियार हो सकते हैं। उन्होंने बताया कि एसीबी को पुख्ता सूचना मिली थी कि विधायक व उनके जानकारों के पास छह हथियार हैं। इनमें से एसीबी दो ही बरामद कर पाई है। एसीबी विधायक के घर    छापे के मामले में चार केस दर्ज करवा रही है।

मधुर वर्मा ने बताया कि विधायक, उसके व्यवसायी साझेदार हामिद अली व कौसर उर्फ लड्डन व जानकारों के यहां छापे में करीब 10 से ज्यादा बेनामी प्रॉपर्टी का पता लगा है। ये प्रॉपर्टी आवासीय व व्यवसायिक हैं। विधायक ने अपनी सालाना आय चार करोड़ रुपये बताई है, जबकि इतनी प्रॉपर्टी कहां से आ गई। इनमें से ज्यादातर प्रॉपर्टी जामिया नगर व ओखला में है। गुरुग्राम में एक कंपनी की आवासीय प्रॉपर्टी का पता लगा है। हामिद अली व कौसर उसके बहुत पुराने व्यवसायी साझेदार हैं। छापे के समय कौसर दिल्ली से बाहर गया हुआ था। हामिद अली छापे के समय फरार हो गया था।

एसीबी प्रमुख ने बताया कि विधायक के परिजन व जानकारों के खिलाफ चार आपराधिक मामले दक्षिण-पूर्वी जिले के जामिया नगर थाने में दर्ज किए जा रहे हैं। एक मामला तो भाई व रिश्तेदारों द्वारा सुबूत चुराने का दर्ज किया जा रहा है। दूसरा मामला एसीबी टीम पर हमला करने का दर्ज किया जाएगा। दो मामले अवैध हथियार बरामद करने के किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि विधायक अमानतुल्लाह खान के खिलाफ एसीबी के पास पुख्ता सुबूत हैं। इसके अलावा कई महत्वपूर्ण गवाह हैं। साथ ही विधायक के व्यावसायिक साझेदारों व जानकारों के ठिकानों पर छापे के दौरान महत्वपूर्ण सुबूत मिले हैं। आपत्तिजनक सामग्री व सुबूत बरामद होने के बाद आप     विधायक अमानतुल्लाह खान को गिरफ्तार किया गया है। 

दो वर्ष पुराने भ्रष्टाचार मामले में पूछताछ के लिए बुलाया : एसीबी ने दो साल पुराने भ्रष्टाचार मामले में पूछताछ के लिए बृहस्पतिवार को विधायक को नोटिस जारी किया  था। ओखला से विधायक को भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत 2020 में दर्ज एक मामले में शुक्रवार दोपहर 12 बजे पूछताछ के लिए बुलाया गया था। विधायक पर आरोप है कि उन्होंने वक्फ बोर्ड का चेयरमैन रहते हुए 32 लोगों की गैरकानूनी रूप से भर्ती की थी।    इसके अलावा वक्फ बोर्ड की  प्रॉपर्टी को गैर-कानूनी तरीके से किराए पर दिया। ये भी आरोप है कि बोर्ड के खाते से हेराफेरी कर पैसे निकाले। एबीसी के अधिकारियों   के अनुसार, एसीबी के पास विधायक के खिलाफ गवाह व सुबूत हैं। एसीबी ने पहले गवाहों से पूछताछ की थी।

वक्फ बोर्ड का ऑफिस बनवाया
अमानतुल्लाह खान ने बृहस्पतिवार को ट्विटर पर नोटिस की कॉपी शेयर कर लिखा था कि वक्फ बोर्ड का नया ऑफिस बनवाया है। एसीबी ने पूछताछ के लिए बुलाया है। इससे पहले एसीबी ने विधायक पर जांच को बाधित करने का आरोप लगाया था।

विस्तार

आप विधायक अमानतुल्लाह खान के भाई व रिश्तेदारों ने दिल्ली सरकार की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा (एसीबी) को बड़ा झटका दिया है। विधायक का भाई व रिश्तेदार घर से पांच महत्वपूर्ण सुबूत चुराकर ले गए। ये अमानतुल्लाह के खिलाफ बहुत ही महत्वपूर्ण व पुख्ता सुबूत थे। एसीबी प्रमुख मधुर वर्मा ने सुबूतों को चुराकर ले जाने की पुष्टि करते हुए बताया कि इन सुबूतों में कैश, प्रॉपर्टी के कागजात व हथियार हो सकते हैं। उन्होंने बताया कि एसीबी को पुख्ता सूचना मिली थी कि विधायक व उनके जानकारों के पास छह हथियार हैं। इनमें से एसीबी दो ही बरामद कर पाई है। एसीबी विधायक के घर    छापे के मामले में चार केस दर्ज करवा रही है।

मधुर वर्मा ने बताया कि विधायक, उसके व्यवसायी साझेदार हामिद अली व कौसर उर्फ लड्डन व जानकारों के यहां छापे में करीब 10 से ज्यादा बेनामी प्रॉपर्टी का पता लगा है। ये प्रॉपर्टी आवासीय व व्यवसायिक हैं। विधायक ने अपनी सालाना आय चार करोड़ रुपये बताई है, जबकि इतनी प्रॉपर्टी कहां से आ गई। इनमें से ज्यादातर प्रॉपर्टी जामिया नगर व ओखला में है। गुरुग्राम में एक कंपनी की आवासीय प्रॉपर्टी का पता लगा है। हामिद अली व कौसर उसके बहुत पुराने व्यवसायी साझेदार हैं। छापे के समय कौसर दिल्ली से बाहर गया हुआ था। हामिद अली छापे के समय फरार हो गया था।

एसीबी प्रमुख ने बताया कि विधायक के परिजन व जानकारों के खिलाफ चार आपराधिक मामले दक्षिण-पूर्वी जिले के जामिया नगर थाने में दर्ज किए जा रहे हैं। एक मामला तो भाई व रिश्तेदारों द्वारा सुबूत चुराने का दर्ज किया जा रहा है। दूसरा मामला एसीबी टीम पर हमला करने का दर्ज किया जाएगा। दो मामले अवैध हथियार बरामद करने के किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि विधायक अमानतुल्लाह खान के खिलाफ एसीबी के पास पुख्ता सुबूत हैं। इसके अलावा कई महत्वपूर्ण गवाह हैं। साथ ही विधायक के व्यावसायिक साझेदारों व जानकारों के ठिकानों पर छापे के दौरान महत्वपूर्ण सुबूत मिले हैं। आपत्तिजनक सामग्री व सुबूत बरामद होने के बाद आप     विधायक अमानतुल्लाह खान को गिरफ्तार किया गया है। 

दो वर्ष पुराने भ्रष्टाचार मामले में पूछताछ के लिए बुलाया : एसीबी ने दो साल पुराने भ्रष्टाचार मामले में पूछताछ के लिए बृहस्पतिवार को विधायक को नोटिस जारी किया  था। ओखला से विधायक को भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत 2020 में दर्ज एक मामले में शुक्रवार दोपहर 12 बजे पूछताछ के लिए बुलाया गया था। विधायक पर आरोप है कि उन्होंने वक्फ बोर्ड का चेयरमैन रहते हुए 32 लोगों की गैरकानूनी रूप से भर्ती की थी।    इसके अलावा वक्फ बोर्ड की  प्रॉपर्टी को गैर-कानूनी तरीके से किराए पर दिया। ये भी आरोप है कि बोर्ड के खाते से हेराफेरी कर पैसे निकाले। एबीसी के अधिकारियों   के अनुसार, एसीबी के पास विधायक के खिलाफ गवाह व सुबूत हैं। एसीबी ने पहले गवाहों से पूछताछ की थी।

वक्फ बोर्ड का ऑफिस बनवाया

अमानतुल्लाह खान ने बृहस्पतिवार को ट्विटर पर नोटिस की कॉपी शेयर कर लिखा था कि वक्फ बोर्ड का नया ऑफिस बनवाया है। एसीबी ने पूछताछ के लिए बुलाया है। इससे पहले एसीबी ने विधायक पर जांच को बाधित करने का आरोप लगाया था।

Source link

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?

Notifications