भारत को विश्व में अग्रणी बनाने के लिए उच्च शिक्षा संस्थाओं को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को बड़ी संख्या में छात्रों तक पहुंचाना होगा: बृजमोहन अग्रवाल

रायपुर। भारत को विश्व में अग्रणी बनाने के लिए उच्च शिक्षा संस्थाओं को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को बड़ी संख्या में छात्रों तक पहुंचाना होगा। इतना ही नहीं उच्च शिक्षा संस्थाओं को नवाचार को भी बढ़ावा देना होगा। उन्हें छात्रों को रचनात्मक और नवीन सोचने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए। उच्च शिक्षा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने सोमवार को शासकीय दूधाधारी बजरंग महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय के प्रतिभा सम्मान समारोह और वार्षिकोत्सव के अवसर पर यह बात कही। उन्होंने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया ।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उच्च शिक्षा मंत्री अग्रवाल ने कहा कि, जिन छात्रों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने का अवसर मिलता है, उनमें से कई को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा नहीं मिल पाती है। जिस कारण वे विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धा करने में सक्षम नहीं होते हैं। उच्च शिक्षा संस्थाओं को छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने पर ध्यान देना चाहिए। उन्हें शिक्षण और अनुसंधान के लिए बेहतर सुविधाएं प्रदान करनी चाहिए। संस्थाओं को अनुसंधान पर जोर देना चाहिए। उन्हें छात्रों को अनुसंधान में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए। उच्च शिक्षा में नवाचार को बढ़ावा देना चाहिए। इसके साथ ही खेलकूद और पाठ्येतर गतिविधियों पर जोर देना चाहिए।
उच्च शिक्षा मंत्री अग्रवाल ने महाविद्यालय में आयोजित पुरातत्वीय प्रतिकृति कार्यशाला का भी निरीक्षण किया और प्रतिभागियों को प्रमाणपत्र भी वितरित किए।
कार्यक्रम में नगर निगम नेता प्रतिपक्ष मीनल चौबे, पार्षद डॉ सीमा कंडोई, कमलेश जैन, प्राचार्या डॉ किरण गजपाल, छात्रसंघ प्रभारी सविता मिश्रा, रंजना और महाविद्यालय के शिक्षक और छात्राएं उपस्थित रहीं।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?

Notifications