कलेक्टर की अध्यक्षता में जिला स्तरीय निर्यात संवर्धन की एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित

कलेक्टर ने निर्यात संबंधी शासन द्वारा दी जा रही सुविधाओं का लाभ लेने किया आग्रह
उद्योग विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने निर्यात संबंधी प्रक्रिया पर डाला प्रकाश

धमतरी। कलेक्टर जिला धमतरी नम्रता गांधी की अध्यक्षता में जिला स्तरीय निर्यात संवर्धन समिति एवं महानिदेशक विदेश व्यापार विभाग क्षेत्रीय कार्यालय नागपुर के तत्वाधान में एक दिवसीय निर्यात संवर्धन कार्यशाला का आयोजन कलेक्टर सभाकक्ष में किया गया। कलेक्टर सुश्री गांधी ने उद्यमियों को संबोधित करते हुए कहा कि जिले में सुगंधित चांवल, वनोपज उत्पाद, जैविक उत्पाद की विदेशों में अत्याधिक मांग है, अपनी विशिष्टता के कारण इसकी प्रसिद्धि है। जिले के कृषक उत्पादक संगठन, वनधन समितियां एवं अन्य उद्यमी निर्यात संबंधी प्रक्रियाओं एवं शासन द्वारा दी जा रही सुविधाओं की जानकारी इस कार्यशाला में लेकर निर्यातक के रूप में अधिक आय अर्जित कर सकते हैं।
विदेश व्यापार विभाग क्षेत्रीय कार्यालय नागपुर से आये प्रतिनिधि सोनाली मोरे एवं उनके टीम के सदस्यों ने निर्यात का लाइसेंस कैसे प्राप्त करें। निर्यात का अभिलेखीकरण कैसे किया जाता है एवं कष्टम निकासी की प्रक्रियाओं के बारे में प्रस्तुतीकरण के माध्यम से विस्तार से समझाया। साथ ही बाजार की खोज तथा जोखिम को कम करने के लिए ई.पी. सी.जी. जैसी गारंटी योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी।

महाप्रबंधक जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र श्री एस.पी. गोस्वामी ने जानकारी दी उपरोक्त कार्यक्रम में जिले को एक निर्यात केन्द्र के रूप में विकसित करने के लिए उद्यमियों शासकीय एजेन्सियों, जिले के निर्यातक, उद्योग एवं व्यापार संगठनों, बैंक, कृषक उत्पादक संगठन, स्व सहायता समूह संगठन वनधन संगठन एवं स्वयं सेवी संस्थाओं को भारत सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयासों एवं सुविधाओं के संबंध में अवगत कराना है। इस आउटरिच कार्यक्रम के माध्यम से सभी भागीदारों के साथ विमर्श कर जिला में निर्यात की संभावनाएं तलाशना है। साथ ही जिले से निर्यात होने वाले उत्पाद एवं सेवाएं और शासन द्वारा निर्यातकों को दिये जाने वाले प्रोत्साहन एवं सुविधाओं की जानकारी दी जावेगी। कार्यक्रम के सहप्रयोजक बैंक आफ महाराष्ट्र के मुख्य प्रबंधक सागर जी ने बताया कि निर्यात के लिए वित्त का प्रबंधन एवं लेटर आफ क्रेडिट की सरलीकृत प्रक्रिया के बारे में उद्यमियों को अवगत कराया ।

एपीडा के क्षेत्रीय अधिकारी ने कृषि एवं खाद्य पदार्थों की निर्यात की प्रक्रिया एवं शासन द्वारा दी जानी वाली सुविधाओं का विडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से जानकारी दी एवं उद्यमियों के जिज्ञासाओं का उत्तर दिया। श्री किशोर इरपाते, सहायक निदेशक, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय ने भारत शासन द्वारा लघु उद्यमों की विभिन्न योजनाओं की जानकारी साथ ही निर्यात संवर्धन के लिए निर्माता इकाईयों को प्रदान की जाने वाली सुविधाओं के संबंध में उद्यमियों को जानकारी दी। कार्यक्रम में राइस मिल एसोसिएशन चेंबर आफ कामर्स, लघु वनोपज व्यापारी संघ, कृषक उत्पादक संगठन, महिला कृषक समूह, वन-धन संगठन समिति, निजी उद्यमी एवं निर्यातक के प्रतिभागियों में इस कार्यक्रम में भाग लिया।

Leave a Comment

[democracy id="1"]

Notifications