जनजातीय नायकों के जीवन वृत्तांत वाली प्रदर्शनी प्रेरणा का केंद्र- केदार कश्यप

माता मावली मेला में शामिल हुए मंत्री केदार कश्यप

रायपुर। वन एवं जलवायु परिवर्तन, सहकारिता, कौशल विकास और जल संसाधन मंत्री केदार कश्यप ने गुरुवार को नारायणपुर में आयोजित ऐतिहासिक माता मावली मेला के दूसरे दिन माता मावली मंदिर एंव कोट गुड़ीन मंदिर में दर्शन कर पूजा-अर्चना की। उन्होंने मेले में शामिल होकर मेले में लगे विभिन्न विभागों द्वारा लगाए गए स्टॉलों का अवलोकन किया। मंत्री कश्यप ने इस अवसर पर कहा कि यहां जनजातीय नायकों के जीवन वृत्तांत वाली प्रदर्शनी प्रेरणा का केंद्र है।
मंत्री कश्यप ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि संस्कृति को जानने के लिए नारायणपुर के मावली माता मेला को जरूर देखें। उन्होंने मेले में उपस्थित लोगों से कहा कि अपने फेसबुक में मावली माता मेला का फोटो जरूर शेयर करें, जिससे विश्व प्रसिद्ध मावली माता मेला के बारे में आम जनों को जानने का अवसर मिलेगा। मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने मावली माता मेला के लिए जिले वासियों को शुभकामनाएं दी है। मंत्री श्री कश्यप ने मेले में लगे देवी देवता के पूजा सामग्री दुकान से तोड़ी बजाकर देखा और खरीददारी की। उन्होंने पूजा सामग्री विक्रेताओं से जानकारी ली।
मंत्री कश्यप ने कहा कि बस्तर अंचल के लोगों का मड़ई-मेला, लोक-कला और संस्कृति का संगम है। यह मेला जिले की ऐतिहासिक और ख्याति प्राप्त मड़ई-मेला है। स्थानीय लोगों के सगे-संबंधी दूर-दूर से यहां की लोक-कला, संस्कृति, रीति-रिवाज और परम्पराओं से रूबरू होने प्रति वर्ष यहां आते हैं। श्री कश्यप ने कहा कि यह मेला 5 दिनों तक चलेगा। यहां लोगों को और सैलानियां को इस मंच पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों की झलक देखने को मिलेगा। उन्होंने अपनी शुभकामनाएं देते हुए कहा कि माता के आशीर्वाद से जिले में चौतरफा विकास हो रहा है।
माता मावली मेला यहां के लोगों के लिए आस्था और श्रद्धा का केन्द्र है। दूर-दूर से लोग यहां आकर अपनी कलाओं का प्रदर्शन करते हैं और इस मेले से जरूरत की सामग्रियां क्रय भी करते हैं। आप सभी मेले में आये और मेले का भरपूर आनंद उठाये। मेले में व्यापारी संघो के द्वारा मंत्री श्री केदार कश्यप को लड्डू से तौलकर कर सम्मानित किया गया।

Leave a Comment

[democracy id="1"]

Notifications