डंक मारने लगा डेंगू: बीते एक हफ्ते में आए 101 नए केस, इस साल एक हफ्ते में ये सर्वाधिक मामले, 396 पहुंची संख्या

ख़बर सुनें

दिल्ली में डेंगू के मामले हर हफ्ते दोगुना बढ़ रहे हैं। पिछले हफ्ते में 51 तो मौजूदा बीते हफ्ते में 101 नए मामले दर्ज किए गए हैं। कुल मामले बढ़कर 396 हो गए हैं। डेंगू फैलाने वाले एडीज मच्छरों की पैदावार तेज हो गई है। इसमें सरकारी एजेंसियों और निजी निर्माण कंपनियों ने बखूबी भागीदारी निभाई है। लेकिन एमसीडी ने इनके खिलाफ सख्ती दिखाई है और कई एजेंसियों को नोटिस और चालान किया है, जबकि हौजखास आईआईटी कैंपस में पीएनएससी कंस्ट्रक्शन साइट पर भारी मात्रा में मच्छरों का लार्वा मिलने पर इसके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई गई है।

एमसीडी ने पहली बार मच्छरों का लार्वा मिलने पर किसी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। निगम ने मच्छरों के प्रजनन को कम करने के लिए जागरूकता व दवा छिड़काव अभियान तेज कर दिया है। बीते दो दिनों के भीतर जन स्वास्थ्य विभाग ने मच्छरों की पैदावार की अधिक संभावना वाली 62 जगहों की आपात जांच कराई। इस बीच 10829 घरों की जांच हुई, जिनमें से 122 जगहों पर मच्छरों का लार्वा मिला, यहां कीटनाशक दवा का छिड़काव कराया है।

हॉटस्पॉट वाली इन जगहों पर मच्छरों का लार्वा मिलने पर एमसीडी ने 54 कानूनी नोटिस व 32 चालान और पांच को चालान के साथ 2500 रुपये का जुर्माना लगाया है। वही, हौज खास आईआईटी कैंपस में निर्माण का काम कर रही पीएनएससी कंस्ट्रक्शन की साइट पर भारी मात्रा में मच्छरों का लार्वा मिलने पर इस कंपनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया।

बीते तीन-चार हफ्ते से लगातार हर हफ्ते डेंगू के मामले पिछले हफ्ते आए मामले से दोगुना रफ्तार से बढ़ रहे हैं। दिल्ली नगर निगम द्वारा सोमवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक 27 अगस्त से तीन सितंबर के बीच 39 मामले दर्ज किए गए थे। तीन से 10 सितंबर के बीच 51 मामले आए थे और 10 सितंबर से 17 सितंबर के बीच 101 मामले दर्ज किए गए। बीते एक हफ्ते में मलेरिया के भी 29 नए मामले आए हैं। इस साल डेंगू के मामले पिछले साल का रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं। पिछले साल दिल्ली में डेंगू के 9613 मामले आए थे और 23 मौतें हुई थीं।

विस्तार

दिल्ली में डेंगू के मामले हर हफ्ते दोगुना बढ़ रहे हैं। पिछले हफ्ते में 51 तो मौजूदा बीते हफ्ते में 101 नए मामले दर्ज किए गए हैं। कुल मामले बढ़कर 396 हो गए हैं। डेंगू फैलाने वाले एडीज मच्छरों की पैदावार तेज हो गई है। इसमें सरकारी एजेंसियों और निजी निर्माण कंपनियों ने बखूबी भागीदारी निभाई है। लेकिन एमसीडी ने इनके खिलाफ सख्ती दिखाई है और कई एजेंसियों को नोटिस और चालान किया है, जबकि हौजखास आईआईटी कैंपस में पीएनएससी कंस्ट्रक्शन साइट पर भारी मात्रा में मच्छरों का लार्वा मिलने पर इसके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई गई है।

Source link

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?

Notifications